ताज़ा ख़बर
BIG BREAKING : वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल नहीं रहे, मेदांता अस्पताल में ली आखिरी सांसराशिफल: मिथुन राशि वालों की कला-संगीत बढ़ सकती है रुचि, सन्तान सुख में भी होगी वृद्धि, जानें अन्य राशियों का हालCORONA BREAKING : छत्तीसगढ़ में आज कुल 1,829 नए कोरोना संक्रमितों की पुष्टि, 15 लोगों ने तोड़ा दम, देखें मेडिकल बु​लटिनEXCLUSIVE: रेलवे प्रबंधन का दावा फेल, रायपुर रेलवे स्टेशन के प्लेट फॉर्म पर बिक रहा गुटखा पाउच, नहीं मिले सुरक्षाकर्मी…BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ के इस जिले में नाईट कर्फ्यू का आदेश, सार्वजनिक जगहों पर शादी समेत कई योजनाओं पर भी रोक, पढ़िये आदेशBIG BREAKING : केंद्र सरकार ने एक बार फिर 43 मोबाइल ऐप्स पर लगाया बैन, बताया देश की एकता के लिए खतराBIG BREAKING: ज्वेलरी दुकान में लाखों की चोरी, दो आरोपी पश्चिम बंगाल से गिरफ्तारBREAKING : TV इंडस्ट्री को बड़ा झटका, एक और एक्टर की मौततमिलनाडु तट में कल दिखेगा तबाही का मंजर, लहरें बहा ले जाएगी पूरा शहर!राहुल के निशाने पर PM मोदी, कहा- सूट बूट की सरकार है चंद पूंजीपतियों की मित्र

ONLINE FRAUD : न ATM का किया इस्तेमाल, न ही ऑनलाइन ट्रांजेक्शन… फिर भी खाते से उड़े साढ़े चार लाख, आखिर कैसे ?

Hitesh dewanganOctober 23, 20201min

 

 


 

भिलाई: छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन ठगी के मामले लगातार तेजी से बढ़ते ही जा रहे हैं। आए दिन कोई न कोई ऑनलाइन ठगी का शिकार हो रहे है। वहीं ऐसा ही मामला दुर्ग जिले के जामुल थाना क्षेत्र सुंदर विहार कालोनी से सामने आया है। खबर यह है कि दुर्ग में एक महिला के बैंक खाते से 4.5 लाख रुपए शातिर ठगों ने गायब कर लिए। ठगों ने 12 दिन में किश्तों में यह रकम खाते से निकाले है।

जानकारी के मुताबिक, इतने दिनों में महिला ने ना एटीएम का इस्तेमाल किया और ना ही ऑनलाइन ट्रांजेक्शन ही किया। महिला अपनी पासबुक में इंट्री करवाने के लिए बैंक गई तो उसे ठगी का पता चला। सुंदर विहार कालोनी निवासी दीपमाला गेदाम पत्नी विनोद गेदाम का कैलाश नगर स्थित देना बैंक की शाखा में खाता है। वह 13 अक्टूबर को बैंक अपने पासबुक में इंट्री कराने के लिए गई थीं। कर्मचारी ने इंट्री के बाद पासबुक दी तो पता चला कि 4.5 लाख रुपए खाते से निकले हैं। उन्होंने बैंक मैनेजर से संपर्क किया तो बताया कि ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के जरिए रुपए निकाले गए।

 

 

 

 

2-3 माह से बैंक से संबंधित मोबाइल पर कोई मैसेज भी नहीं आया

 

यह रकम किश्तों में 31 जुलाई से 12 अक्टूबर के बीच निकाली गई है। महिला का कहना है कि इस दौरान उसने कोई ट्रांजेक्शन नहीं किया। ना ही रुपए निकाले जाने और अन्य कोई संबंधित मैसेज पिछले 2-3 माह से उसके पास मोबाइल पर आया है। महिला ने साइबर ठगी की आशंका जताते हुए शिकायत दी है। पुलिस ने जांच कर करीब 10 दिन बाद एफआईआर दर्ज कर ली है।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories