ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में आज 2,046 नए कोरोना मरीजों की पहचान, 2,017 मरीज़ हुए स्वस्थ, देखें मेडिकल बुलेटिनRAIPUR CRIME: बैंक में बंधक भूमि भवन को कर दिया विक्रय, दो सगे भाइयों के खिलाफ 24 लाख की धोखाधड़ी का अपराध दर्जगोबर विक्रय से प्राप्त रूपये से किसान शिवनारायण ने खरीदे 2 और मवेशी, राज्य सरकार को इस योजना के लिए दिया धन्यवादबड़ी खबर : फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी हेड आंखी दास ने कंपनी छोड़ी, पक्षपात के लगे थे आरोपBREAKING : दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा प्रकाश के ठीकानों में NCB की दबिश, ड्रग्स मिलने के बाद भेजा समनबड़ी खबर: राजधानी में चाकूबाजी में घायल युवक इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने थाना पहुंच किया हंगामाबड़ी खबर : पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष के बेटे की गुंडागर्दी : सरेराह 11 लोगों को कुचला, एक मासूम की मौत, चक्काजामBREAKING : अब रायपुर और दुर्ग स्टेशन से किसान रेल की सुविधा, फल व सब्जी के भाड़े में मिलेगी 50 प्रतिशत की छूटBREAKING: पूर्व पार्षद ने भाजपा अध्यक्ष सुंदरानी के खिलाफ की टिप्पणी, आक्रोशित भाजपाई पहुंचे थानेCRIME : चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में 2 और FIR, NCRB से मिली जांच रिपोर्ट के बाद रायपुर पुलिस ने दर्ज किया मामला

चीन को 40 हजार करोड़ के व्यापार का झटका देने में जुटे व्यापारी,भारतीय वीर जवानों की शहादत का लिया जाएगा बदला- CAIT

Sanjay sahuOctober 18, 20201min

चीन को 40 हजार करोड़ के व्यापार का झटका देने में जुटे व्यापारी,भारतीय वीर जवानों की शहादत का लिया जाएगा बदला- CAIT

cait

 

 

 

रायपुर,कुणाल राठी,18 अक्टूबर 2020। कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट)के प्रदेश अध्यक्ष अमर परवानी,कार्यकारी अध्यक्ष मंगेलाल मालू, विक्रम सिंहदेव, महामंत्री जितेंद्र दोषी, कार्यकारी महामंत्री परमानंद जैन, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल, प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि देश भर में इस वर्ष की दिवाली को हिन्दुस्तानी दिवाली के रूपमें मनाने के कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के आव्हान को देश के कोने कोने में ले जाने के लिए कैट ने व्यापक स्तर पर लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं जिसके जरिये कैट के बैनर तले देश का व्यापारी वर्ग चीन को इस वर्ष के दिवाली फेस्टिवल सीजन पर लगभग 40 हजार करोड़ रुपये का एक बड़ा झटका देने को पूरी तरह मुकम्मल है !

 

 

 

कैट के इस अभियान को देश भर से व्यापक समर्थन मिल रहा है ! जहाँ व्यापारियों ने चीनी सामान को नहीं बेचने का संकलप लिया है वहीँ दूसरी ओर देश भर में लोग चीनी सामान को खरीदने के मूड में बिलकुल भी नहीं है l

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने बताया की प्रति वर्ष भारत में दिवाली त्यौहार के सीजन पर लगभग 70 हजार करोड़ का व्यापार होता है जिसमें सोना चांदी, ऑटोमोबाइल जैसे महंगे रिटेल व्यापार भी शामिल हैं ! इस 70 हजार करोड़ के व्यापार में लगभग 40 हजार करोड़ रुपये का सामान बीते वर्षों में चीन से आयात होता है ! लेकिन इस वर्ष जून महीने में जिस तरह से चीन ने 20 भारतीय जवानों को निर्दयता के साथ मारा है उसको लेकर देश के सभी वर्गों में चीन के प्रति एक बड़ा गुस्सा और आक्रोश है और जिसके चलते लोग चीन का सामान न खरीदने का मन बनाये हुए बैठें हैं और देश भर में व्यापारी कैट के ” भारतीय सामान – हमारा अभिमान ” एवं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के “लोकल पर वोकल ” एवं ” आत्मनिर्भर भारत ” को जमीनी स्तर तक सफल बनाने में भारतीय सामानों को प्रमुखता से बेचे जाने के लिए स्टॉक का संग्रह कर रहे हैं।

श्री पारवानी ने बताया की दिवाली के त्योहारी सीजन में वैसे तो हर वर्ग का व्यापारी अपनी तैयारी कर रहा हैं किन्तु ख़ास तौर पर मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक एवं इलेक्ट्रिकल सामान, खिलौने, होम फर्निशिंग, किचेन एक्सेसरीज, गिफ्ट आइटम्स, घड़ियाँ, रेडीमेड गारमेंट्स, फैशन के कपडे, फुटवियर, कॉस्मेटिक्स, ब्यूटी प्रोडक्ट्स, फर्नीचर, एफएमसीजी प्रोडक्ट्स, कंस्यूमर ड्युरेबल्स, ऑफिस स्टेशनरी, दिवाली की पूजा और दिवाली पर घर, दुकान, ऑफिस सजाने का दिवाली का सामान आदि बड़ी मात्रा में बिकने की संभावना है !

उन्होंने बताया की कैट ने चीन के सामानों के विकल्प के रूप में जहाँ देश भर में लघु उद्योगों की जानकारी करते हुए उन्हें अधिक उत्पाद बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया हैं वहीँ दूसरी ओर देश के प्रत्येक शहर में कारीगरों, शिल्पकारों एवं ऐसे लोग जिनके पास कला कौशल तो है लेकिन साधन नहीं है , को संपर्क कर उनसे दिवाली त्यौहार पर बिकने वाले उत्पाद बनवाएं हैं और ऐसे लोगों को देश भर में फैले व्यापारिक संगठनों के जरिये बाज़ारों में अपने उत्पाद बेचने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा ! इसके अलावा कैट रोज़गार चाहने वाले लोगों को सहयोग कर देश के बाज़ारों में स्टाल लगाकर उनके द्वारा दिवाली त्यौहार से सम्बंधित सामान की बिक्री करने का अभियान भी चलाएगा !

श्री पारवानी ने कहा की कैट का यह प्रयास सही मायनों में प्रधानमंत्री मोदी के लोकल पर वोकल एवं आत्मनिर्भर भारत को वास्तविकता में करके दिखायेगा जिसके जरिये चीन को 40 हजार करोड़ रुपये के व्यापार का झटका देकर सबक सिखाया जाएगा ! उन्होंने कहा की देश भर में कला और कौशल की कोई कमी नहीं हैं पर ऐसे लोगों को उत्पाद के लिए सहयोग करना और फिर उत्पाद बेचने के लिए उनको बाजार देने की जरूरत है ! यह काम वातानुकूलित कमरों में बैठकर कागज़ी योजना बनाने से नहीं होगा बल्कि इसके लिए जमीन पर उतर कर काम करना होगा जिससे प्रधानमंत्री श्री मोदी की सोच को अमली जामा पहनाया जा सके !

Related Articles


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories