ताज़ा ख़बर
वेतन विसंगति समेत विभिन्न मांगों को लेकर शिक्षक संघ ने निकाली मौन रैलीकरंट की चपेट में आने से तेन्दुए की मौत, 4 आरोपी गिरफ्तार, जांच में जुटी वन विभागIND-AUS 2020 : IPL के बाद भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा, देखें- कब और कहां खेले जाएंगे सभी मुकाबलेबड़ी खबर : बिहार चुनाव को दहलाने की साजिश! बूथ के करीब दो IED बरामदCG CRIME : देसी कट्टे के साथ पकड़ा गया युवक, लॉकडाउन में झारखंड से मंगवाया था रिवाल्वरRaipur News : CM भूपेश बघेल आज जाएंगे जगदलपुर, बस्तर को देंगे 562 करोड़ से अधिक की सौगातBihar Election 2020 : पहले चरण की वोटिंग शुरू, 1066 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में होगी कैदCORONA BREAKING : प्रदेश में आज 2,046 नए कोरोना मरीजों की पहचान, 2,017 मरीज़ हुए स्वस्थ, देखें मेडिकल बुलेटिनRAIPUR CRIME: बैंक में बंधक भूमि भवन को कर दिया विक्रय, दो सगे भाइयों के खिलाफ 24 लाख की धोखाधड़ी का अपराध दर्जगोबर विक्रय से प्राप्त रूपये से किसान शिवनारायण ने खरीदे 2 और मवेशी, राज्य सरकार को इस योजना के लिए दिया धन्यवाद

बलिया गोलीकांड : आखिरकार हत्या का मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह गिरफ्तार, 4 दिन से था फरार

Sameer VermaOctober 18, 20201min

बलिया गोलीकांड : आखिरकार हत्या का मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह गिरफ्तार, 4 दिन से था फरार

Dhirendra Singh - TCP 24 News

 

लखनऊ : बलिया हत्याकांड का मुख्य का आरोपी धीरेंद्र सिंह आखिरकार गिरफ्तार कर लिया गया है. वह एक भाजपा नेता का करीबी है. 500 लोगों भीड़ पर गोली चलाने के साथ आरोपी ने एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी. धीरेंद्र सिंह को उत्तर प्रदेश STF ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही इस केस में अब तक 9 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

 

पुलिस की 12 टीम लगी थी पीछे

 

धीरेंद्र सिंह को पकड़ने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस ने 12 टीमें बनाई थीं. फिर भी मुख्य आरोपी तक पहुंचने के लिए पुलिस को एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ा. पुलिस ने धीरेंद्र सिंह पर 50 हजार का इनाम भी रखा था. लेकिन फिर कोई बड़ी कामयाबी नहीं मिल रही थी, अब आखिरकार बलिया गोली कांड का मुख्य आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है.

 

 

READ MORE : मंदिर में मिला साधू का शव, अवैध खनन वालों के खिलाफ भी उठाते रहते थे आवाज, हत्या की आशंका

 

क्या है मामला?

 

दरअसल ग्राम सभा दुर्जनपुर और हनुमानगंज की कोटे की दो दुकानों के कोटे के लिए पंचायत भवन पर बैठक बुलाई गई थी. SDM बैरिया सुरेश पाल, सीओ बैरिया चंद्रकेश सिंह, बीडीओ बैरिया गजेंद्र प्रताप सिंह के साथ ही रेवती थाने की पुलिस फोर्स मौजूद थी. दुकानों के लिए 4 स्वयं सहायता समूहों ने आवेदन किया था.

 

 

दुर्जनपुर की दुकान के लिए दो समूहों के बीच मतदान कराने का निर्णय लिया गया. अधिकारियों ने कहा कि वोटिंग वहीं करेंगे, जिसके पास आधार या कोई दूसरा पहचान पत्र होगा. एक पक्ष के पास कोई आईडी प्रूफ नहीं था. इसको लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया.

 

 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, ग्राम दुर्जनपुर में सरकारी कोटे की दुकान के लिए चयन की प्रक्रिया चल रही थी. उसमें दो समूह सहायता के लोग थे. एक का समर्थन धीरेंद्र सिंह डब्लू कर रहे थे. दोनों में कहा सुनी हो गई.

 

जब हंगामा करने लगे तो एसडीएम ने प्रक्रिया को बाधित होते देख बंद कर दिया गया. तभी लोग जा रहे थे. तभी धीरेंद्र सिंह ने फायरिंग कर दी उसमें जयप्रकाट उर्फ गामा को गोली लग गयी. अस्पताल ले जाते समय उनकी मौत हो गई.

 

Related Articles


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories