ताज़ा ख़बर
BIG BREAKING: गुल्लू शराब लूटकांड में पुलिस को कड़ी मशक्कत के बाद मिली सफलता, 5 आरोपियों ने दी थी वारदात को अंजाम, 1 आरोपी ने फांसी लगाकर की आत्महत्याकॉलेजों में दाखिले की तारीख बढ़ी, राज्य शासन ने जारी किया आदेश, जानिए कब तक हो सकेंगे एडमिशनHBD Amit Shah : 56 साल के हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, PM मोदी, CM भूपेश समेत कई दिग्गजों ने दी बधाईMarwahi Upchunav : EVM में ऐसा कुछ होगा प्रत्याशियों का क्रम, तैयारियों में जुटा चुनाव आयोगअच्छी खबर : भारत खुद ही तय करेगा देश में सोने की कीमत, बुलियन एक्सचेंज शुरू करने की कवायद तेजबड़ी खबर : कोरोना वैक्सीन की टेस्टिंग में शामिल एक वॉलंटिअर की मौत, नहीं रोका जाएगा ट्रायलCM भूपेश आज से दो दिवसीय दौरे पर, दिल्ली में शीर्ष नेताओं से करेंगे मुलाकात, MP में चुनावी सभाBREAKING : पूर्व केबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता माधव सिंह का निधन, अस्पताल में ली आखिरी सांसINS Kavaratti : आज इंडियन नेवी के बेड़े में शामिल होगा INS “कवरत्ती”, रडार की पकड़ से होगा बाहरराशिफल : इन 5 राशियों को मुनाफा मिलने का योग, जानिए आज का दिन किस राशि के लिए शुभ और किसके लिए अशुभ

सुरजपुर : PM आवास में मिलने वाले हितग्राही के मानव दिवस में हुई गड़बड़ी, ग्रामीणों को नही मिली 90 दिन की मजदूरी

Mahendra Kumar SahuOctober 16, 20201min

सुरजपुर : PM आवास में मिलने वाले हितग्राही के मानव दिवस में हुई गड़बड़ी, ग्रामीणों को नही मिली 90 दिन की मजदूरी

Surjpur: disturbances in the beneficiary's human day found in PM housing, villagers did not get 90 days wages

 

सूरजपुर : महात्मा गांधी रोजगार गारंटी के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में बनने वाले प्रधानमंत्री आवास में हितग्राहियों को मिलने वाले मानव दिवस में निमियत बरते जाने का मामला सामने आया है.

गौरतलब है कि सुरजपुर जनपद पंचायत के अंतर्गत अधिकतम ग्राम पंचायतों में 2017 से 2020 के बीच प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुई थी. पीएमएवाई के तहत प्रति आवास में हितग्राही को 90 दिवस मानव दिवस केंद्र सरकार द्वारा दिए जाने का प्रावधान है. किंतु पंचायत के मिली भगत से सुरजपुर जनपद पंचायत के कार्यक्रम अधिकारी द्वारा 90 दिवस का भुगतान ना करके 17 दिवस तक का भुगतान कर दिया है और प्रोग्रेस रिपोर्ट दिखाने का चक्कर में ग्रामीणों को उनके मिलने वाले अधिकारो का हनन किया गया है.

मजदूरों ने बताया उन्होंने अपने आवास में मजदूरी की थी, जिसका भुगतान हितग्राही को नही मिला है. जबकि पीएमएवाई के तहत प्रति आवास में हितग्राही को 90 दिवस का भुगतान किया जाना है. जिसके तहत आवास हितग्राही को 15 हजार रुपये की रकम नरेगा के तहत दिया जाना होता है.

 

 

ऐसे में कार्यक्रम अधिकारी द्वारा भुगतान में किये जाने से मजदूरों के आर्थिक स्थिति खराब हो रही है. जबकि किसी भी आवास बनने में 90- 100 दिन का मजदूरी से कार्य कराया जाता है. जिसके बाद भी प्रोग्रेस रिपोर्ट दिखाने के चक्कर मे भुगतान में अनिमियता बरते जाने से ग्रामीण क्षेत्रो में मजदूरों को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

ऐसे में देखा जाये तो कई ग्राम पंचायतों में लाखों रुपये का भुगतान नही मिल पाया है. और आवास में सीसी भी लगा दिया गया है. वहीँ जिलाभर के समस्त ग्राम पंचायतों में प्रधान मंत्री आवास की स्थिति चरमराई हुई है. आवास अधूरा है. और कागजों में कम्प्लीट दिखा दिया गया है.

बता दे कि सुरजपुर जनपद में पदस्त प्रभारी कार्यक्रम अधिकारी के कार्य से असंतुष्ट जिले के डीएम ने प्रेस रिलीज जारी कर सेवा समाप्ति के आदेश जिला पंचायत सीईओ को दिए थे. जिसके महीना भर से अधिक हो जाने के बाद भी कोई ठोस कार्यवाही नही होने से बाजार में कई तरह के चर्चा से बाजार गर्म है.


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories