ताज़ा ख़बर
BIG BREAKING: गुल्लू शराब लूटकांड में पुलिस को कड़ी मशक्कत के बाद मिली सफलता, 5 आरोपियों ने दी थी वारदात को अंजाम, 1 आरोपी ने फांसी लगाकर की आत्महत्याकॉलेजों में दाखिले की तारीख बढ़ी, राज्य शासन ने जारी किया आदेश, जानिए कब तक हो सकेंगे एडमिशनHBD Amit Shah : 56 साल के हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, PM मोदी, CM भूपेश समेत कई दिग्गजों ने दी बधाईMarwahi Upchunav : EVM में ऐसा कुछ होगा प्रत्याशियों का क्रम, तैयारियों में जुटा चुनाव आयोगअच्छी खबर : भारत खुद ही तय करेगा देश में सोने की कीमत, बुलियन एक्सचेंज शुरू करने की कवायद तेजबड़ी खबर : कोरोना वैक्सीन की टेस्टिंग में शामिल एक वॉलंटिअर की मौत, नहीं रोका जाएगा ट्रायलCM भूपेश आज से दो दिवसीय दौरे पर, दिल्ली में शीर्ष नेताओं से करेंगे मुलाकात, MP में चुनावी सभाBREAKING : पूर्व केबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता माधव सिंह का निधन, अस्पताल में ली आखिरी सांसINS Kavaratti : आज इंडियन नेवी के बेड़े में शामिल होगा INS “कवरत्ती”, रडार की पकड़ से होगा बाहरराशिफल : इन 5 राशियों को मुनाफा मिलने का योग, जानिए आज का दिन किस राशि के लिए शुभ और किसके लिए अशुभ

मनरेगा डीएमएफ और विशेष केन्द्रीय सहायता के अभिसरण से नहरों का हो रहा जीर्णोद्वार

Sameer VermaOctober 15, 20201min

मनरेगा डीएमएफ और विशेष केन्द्रीय सहायता के अभिसरण से नहरों का हो रहा जीर्णोद्वार

WhatsApp Image 2020-10-15 at 4.17.29 PM

बीजापुर, ईश्वर सोनी: गावों में रोजगार, आजीविका संवर्धन और सामुदायिक एंव निजी परिसंपतियों के निर्माण के साथ ही मनरेगा किसानों को भी खुश होने का मौका दे रही है।

 

प्रदेश मे मनरेगा और विभिन्न विभागों के अभिसरण से खेती-किसानी की मजबूती, एवं उत्पादन में बढ़ोत्तरी के साथ किसानों की आय में वृद्धि के लिए भी अनेक काम किए जा रहे हैं। मनरेगा से बारिश के भरोसे रहने वाले बीजापुर के किसानों के खेतों तक भी नहर के माध्यम से पानी पहुंचाने की व्यवस्था हो रही है। इससे वहां के किसान बहुत खुश है।

जल संसाधन वीभाग बीजापुर के अंतर्गत 24 तालाब, 03 नत्र व्यपवर्तन योजना, 01 उद्वहन सिंचाई योजना, 01 नहर विस्तार कुल 29 लघु सिंचाई योजनाएं के साथ ही 03 स्टापडेम एवं 05 एनीकट निर्मित है। परन्तु सिंचाई परियोजनाओं में निर्मित कई नहर लगभग अस्तित्वहीन है तथा कई जलाशयों के स्लूस गेट क्षतिग्रस्त होने स ेजल रिसाव के कारण 5480 हैक्टेयर रुपांकित क्षेत्र में से औसत 1000 हेक्टेयर रकबा में सिंचाई होता है।

स्थल की आवश्यकता के अनुरुप वित्तीय वर्ष 2019-20 में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना एवं कन्वर्जेंस के मद में जिले के विकासखण्ड भैरमगढ़ स्थित कोडोली क्र. 1, कोडोली क्र. 2 एंव मिरतुर जलाशय के 3.80 किमी एंव विकासखण्ड बीजापुर स्थित दोगोली, ईटपाल एवं पापनपाल जलाशय के 2.60 किमी. एवं विकासखण्ड भोपालपटनम स्थित वरदली , दम्मूर एंव सकनापल्ली जलाशय के 3.40 किमी. नहरों में 49 कार्यों के कुल 9.80 किमी. में सी.सी. लाईनिंग कार्य किया जा रहा है, जिससे बीजापुर जिले लगभग 799 हेक्टेयर क्षेत्र को पुनरस्थापित किया जा रहा है, इससे लगभग 600 किसान लाभान्वित होगें तथा ईटपाल , पापनपाल एवं मिरतुर तालाब में क्षतिग्रस्त जलद्वार को तोड़कर नई जल द्वार बनाये जाने से कृषकों में हर्ष व्याप्त हैै।

एन.एम.डी.सी. मद में ग्राम वेंगला में एनीकट निर्माण कार्य पूर्ण होने से कृषक अपने स्वयं के साधन (पंप) से 60 हेक्टेयर क्षेत्र के लगभग 50 किसान लाभान्वित हो रहे हैं तथा खनिज मद में स्वीकृत मेटलाचेरू नहर निर्माण से 160 हेक्टेयर क्षेत्र के अनुमानतः 140 किसान लाभान्वित हो रहे है।

विभागीय बजट में शामिल मट्टीमरका व्यपवर्तन योजना की 2515 हेक्टेयर क्षेत्र के लिए डी.पी.आर. शासन को प्रेषित है। इससे विकासखण्ड भोपालपटनम के 31 ग्रामों के अनुमानतः 1500 कृषक लाभान्वित होगें तथा वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में शामिल इस संभाग की सर्वेक्षणाधीन इन्द्रावती बहुद्देशीय बोधघाट परियोजना से बीजापुर जिले के 218 ग्रामों के अनुमानतः 43000 कृषक लाभान्वित होगें।

जल संसाधन विभाग के ईई सुमन ने बताया कि मार्च के बाद लाकडाउन के दौरान भी किसानों की मांग को देखते हुए नहरों का विस्तार किया गया वंही 3 स्टापडेम एंव 5 एनीकेट का भी निर्माण किया गया सारे कार्यो में गुणवत्ता के साथ कराए गए है और अब इनसे सैकड़ो किसानों को पानी मिलेगा।

Related Articles


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories