ताज़ा ख़बर
BREAKING : एक साथ 32 माओवादियों ने खड़े किए हाथ, नक्सली हिंसा का रास्ता छोड़ अब मुख्यधारा से जुड़ेबड़ी खबर: संसदीय समिति के सामने पेश होने से अमेज़न के इनकार को CAIT ने बताया दुस्साहसBREAKING: राजधानी में रावण दहन पर देर रात विवाद,SDM के निर्देश पर BTI ग्राउंड पर बने रावण को पुलिस ने उखाड़ा, भारी बल तैनातरक्षामंत्री राजनाथ ने की शस्त्र पूजा, कहा- चीन हमारी जमीन का एक हिस्सा भी नहीं ले सकताराज्योत्सव के मौके पर 1 नवंबर को रायपुर आएंगे राहुल गांधी, CM भूपेश का न्योता स्वीकाराचैम्बर चुनाव : RADA के पदाधिकारी पारवानी के समर्थन में हुए एकजुट, कदम से कदम मिलाने का दिया नाराHappy Dussehra : आज और कल भी दशहरा, 26 को दशमी तो दशहरा 25 को कैसे.. जानें वजहBIG BREAKING: राजधानी में प्रेमी जोड़े ने बंटी-बबली बन विज्ञापन देने वालों को बनाया निशाना, खरीदार और वकील बन करते थे ठगीCORONA BREAKING : छत्तीसगढ़ में कोरोना के रिकवरी रेट ने पकड़ी रफ़्तार, 2,325 मरीज़ हुए स्वस्थ, देखें मेडिकल बुलेटिनBIG BREAKING : साउंड संचालकों को बड़ी राहत, DJ और धुमाल लगाने जिला प्रशासन ​ने दी अनुमति

CG Politics : अब ये क्या कह गए भाजपा सांसद मोहन मंडावी, “हाथरस गैंगरेप बनावटी है”

Sameer VermaOctober 12, 20201min

CG Politics : अब ये क्या कह गए भाजपा सांसद मोहन मंडावी, “हाथरस गैंगरेप बनावटी है”

Mohan Mandavi BJP MP

 

कोंडागांव : छत्तीसगढ़ के कोंडागांव में हुए दुष्कर्म (Kondagaon Rape) का एक ओर प्रदेश भाजपा प्रदर्शन कर रही है तो दूसरी ओर पार्टी के नेता ही उल जुलूल बयान दे रहे हैं. कोंडागांव में हुए दुष्कर्म के विरोध में धरना प्रदर्शन करने पहुंचे भाजपा सांसद मोहन मंडावी ने एक विवादित टिप्पणी की है. उन्होंने हाथरस में दलित युवती के साथ हुए गैंगरेप को बनावटी करार दिया है.

 

भाजपा सांसद मोहन मंडावी ने कहा, हाथरस केस तो बनावटी है. असली मामला तो कोंडागांव का है. भाजपा नेता यही नहीं रूके. उन्होंने आगे कहा, जहां लोगों ने कांग्रेस को वोट नहीं दिया वहां भी कांग्रेसी विरोध करने जा रहे हैं. कोंडागांव में हुई दुष्कर्म की घटना को लेकर कोई विरोध नहीं कर रहे हैं. इसलिए बीजेपी नेता हड़ताल पर बैठ रहे हैं.

 

READ MORE : कैबिनेट मंत्री का निधन, दिल्ली के मेदांता अस्पताल में ली अंतिम सांस, कई नेताओं ने जताया शोक

 

क्या है मामला?

 

आपको बता दें कि कोंडागांव जिले में गैंगरेप की शिकार हुई 17 वर्षीय पीड़िता ने आत्महत्या कर ली थी. जिसके बाद परिजन मामले में कार्रवाई की मांग कर रहे थे. लेकिन पुलिस की तरफ से आरोपियों पर तत्काल कार्रवाई भी नहीं की गई. जिससे तंग आकर पीड़िता के पिता ने कीटनाशक खाकर खुद को मारने की कोशिश की. गनीमत रही की उसे वक्त रहते बचा लिया गया.

 

 

READ MORE : NEET Result 2020 : रिजल्ट के लिए करना होगा थोड़ा और इंतजार, NTA ने कही ये बात

 

19 जुलाई को बालिका अपने परिजनों के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए गई थी. इस दौरान रात 11 बजे के करीब गांव के दो लड़के उसे जंगल में ले गए और वहां पांच अन्य लोगों ने उसके साथ गैंग रेप को अंजाम दिया. अगले ही दिन पीड़िता बिना किसा को बताए अपने घर लौट आई थी और फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी.

 

बालिका के साथ हुई घटना से अंजान परिवार वालों ने बालिका की मृत्यु के बाद उसे दफना दिया था. मामले में पहले बताया जा रहा था कि पांच लोगों ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया लेकिन अब परिवार की तरफ से दी गई जानकारी में कहा गया कि बालिका के साथ 7 लोगों ने दुष्कर्म किया था.

 

READ MORE : खुशखबरी: त्यौहारों में मिलेगा सरकारी कर्मचारियों को तोहफा, 10 हजार का फेस्टिवल एडवांस

Related Articles


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories