ताज़ा ख़बर
गोण्डाहूर में चलाया यातायात जागरुकता अभियान​बड़ी खबर : राज्यसभा सांसद अभय भारद्वाज का निधन, पीएम मोदी ने जताया दुखराज्यपाल से नवनियुक्त मुख्य सचिव जैन ने की सौजन्य भेंट, नए दायित्वों के लिए दी शुभकामनाएंकांग्रेस के वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारीBREAKING : DGP अवस्थी एक्शन में, नप गए दो और पुलिसकर्मी, किए गए बर्खास्तBREAKING : नक्सलियों की एक और कायराना करतूत, IED ब्लास्ट कर दो ग्रामीणों को पहुंचाया नुकसानआज से बदल गए ये नियम, आम जीवन पर पड़ेगा सीधा असरधान खरीदी आज से शुरू, गड़बड़ियों पर राजधानी से होगी निगरानी, CM भूपेश ने अधिकारियों को दी चेतावनीबड़ी खबर : किसानों के सामने झुकी सरकार, कृषि कानून पर जल्द सुलह के आसार.. पढ़ेंराशिफल: मिथुन राशि वालों की कला-संगीत बढ़ सकती है रुचि, सन्तान सुख में भी होगी वृद्धि, जानें अन्य राशियों का हाल

‘राजपूत नहीं थे सुशांत’, RJD विधायक के विवादित बयान पर बिहार में बवाल, BJP नाराज

Hitesh dewanganSeptember 17, 20201min

 

 


 

पटना। बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत कैसे हुई, इसकी जांच सीबीआई कर रही है। इस मामले में कुछ गिरफ्तारियां भी हो चुकी हैं। वहीं दूसरी ओर बिहार में सुशांत को लेकर राजनीति भी खूब हो रही है। इस बीच आरजेडी विधायक अरुण कुमार यादव ने सुशांत सिंह राजपूत पर विवादास्पद टिप्पणी देकर विवाद बढ़ा दिया है। सहरसा से राजद विधायक अरुण यादव ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत थे ही नहीं, क्योंकि राजपूत महाराणा प्रताप के वंशज हैं, जो कभी गले में रस्सी लगाकर नहीं मर सकते।

 

राजद विधायक अरुण यादव ने कहा, ‘हम तो पहले कहते हैं कि राजपूत नहीं था वो। बुरा मत मानिएगा। राजपूत, महाराणा प्रताप का संतान गला में डोरी बांध कर नहीं मर सकता है। महाराणा प्रताप राजपूतों का पुरखा हैं तो वह यादवों के भी हैं। हमको दुख है, सुशांत सिंह राजपूत को डोरी बांध कर नहीं मरना चाहिए था। वह राजपूत था, मुकाबला करता। राजपूत डोरी बांध कर मरता है? यदि सीबीआई जांच हो, जो होगा काम करेगा, लेकिन हम इस बात से दुखी हैं।’

 

सुशांत सिंह राजपूत की संदेहास्पद मृत्यु के मामले में टिप्पणी पर बिहार भाजपा ने प्रवक्ता डॉ निखिल आनंद ने कहा कि राजद विधायक का बयान बिल्कुल ही अनर्गल है और जातिवादी मानसिकता से ग्रसित है। इससे पहले भी तेजप्रताप ने रघुवंश बाबू को समुंदर में एक लोटा पानी बताकर बाहर फेंकने की बात की। इन सबसे प्रतीत होता है कि राजद के नेतागण आदतन इस तरह की घटिया बयानबाजी के लिए ही बने हैं।

 

उन्होंने कहा कि ये लोग बिल्कुल हैबिचुअल ऑफेन्डर या आदतन गलती करने वाले लोग हैं। बिहार की जनता सबकुछ देख रही है और इन सभी राजद के लोगों को करारा जवाब देगी। सुशांत के मामले पर कांग्रेस और राजद दोनों की घटिया मानसिकता परिलक्षित होती है जो एक्सपोज हो चुकी है। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी का बयान सबके सामने है। इस पूरे मामले में तेजस्वी यादव सफाई दे और बताएं कि उनकी सुशांत, रिया, कंगना के मामले में क्या राय है?

 

क्या तेजस्वी अधीर रंजन चौधरी और अपने विधायक के जातिवादी बयानों से सहमति जताते हैं या फिर दोनों के बयानों का विरोध करते हैं। तेजस्वी यादव को चाहिए कि वे महागठबंधन और राजद नेताओं की ओर से बिहार के बेटे सुशांत सिंह राजपूत के खिलाफ अनर्गल जातिवादी टिप्पणी पर सार्वजनिक माफ़ी मांगे।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories