ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में आज 2,046 नए कोरोना मरीजों की पहचान, 2,017 मरीज़ हुए स्वस्थ, देखें मेडिकल बुलेटिनRAIPUR CRIME: बैंक में बंधक भूमि भवन को कर दिया विक्रय, दो सगे भाइयों के खिलाफ 24 लाख की धोखाधड़ी का अपराध दर्जगोबर विक्रय से प्राप्त रूपये से किसान शिवनारायण ने खरीदे 2 और मवेशी, राज्य सरकार को इस योजना के लिए दिया धन्यवादबड़ी खबर : फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी हेड आंखी दास ने कंपनी छोड़ी, पक्षपात के लगे थे आरोपBREAKING : दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा प्रकाश के ठीकानों में NCB की दबिश, ड्रग्स मिलने के बाद भेजा समनबड़ी खबर: राजधानी में चाकूबाजी में घायल युवक इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने थाना पहुंच किया हंगामाबड़ी खबर : पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष के बेटे की गुंडागर्दी : सरेराह 11 लोगों को कुचला, एक मासूम की मौत, चक्काजामBREAKING : अब रायपुर और दुर्ग स्टेशन से किसान रेल की सुविधा, फल व सब्जी के भाड़े में मिलेगी 50 प्रतिशत की छूटBREAKING: पूर्व पार्षद ने भाजपा अध्यक्ष सुंदरानी के खिलाफ की टिप्पणी, आक्रोशित भाजपाई पहुंचे थानेCRIME : चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में 2 और FIR, NCRB से मिली जांच रिपोर्ट के बाद रायपुर पुलिस ने दर्ज किया मामला

फीस जमा नहीं करने पर ऑनलाइन क्लासेस से खदेड़े जा रहे बच्चे.. सख्त निर्देशों के बावजूद स्कूल प्रबंधन की मनमानी

Sameer VermaSeptember 14, 20201min

फीस जमा नहीं करने पर ऑनलाइन क्लासेस से खदेड़े जा रहे बच्चे.. सख्त निर्देशों के बावजूद स्कूल प्रबंधन की मनमानी

SCHOOL CG

 

रायपुर । कोरोना संकट में फीस को लेकर प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ सरकार कितनी भी सख्त क्यों न हो जाए, लेकिन विद्यालय प्रबंधन की मनमानी जैसी खबरें समय-समय पर मिलती ही रहती है. अब इसी तरह का एक ताजा मामला राजधानी के रेलवे स्टेशन रोड स्थित देशबंधु स्कूल से सामने आया है, जहां आक्रोशित पालकों ने सीधे स्कूल कैंपस की ओर रूख किया है.

 

फीस मनमानी को लेकर सोमवार को देशबंधु इंग्लिश मिडियम में पढ़ने वाले बच्चों के परीजन सीधे स्कूल पहुंच गए और बच्चों पर स्कूल फीस का दबाव डालने प्रबंधन पर जमकर बरसे. इस दौरान पालकों के जुबान पर एक ही सवाल सुनाई दिया कि जब सरकार ने फीस को लेकर प्राइवेट स्कूलों को सख्त चेतावनी जारी कर रखी है तो इसके बावजूद मनमानी क्यो?

 

बातचीत पर बच्चों के अभिभावक ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते बच्चों को स्कूल नहीं बुलाया जा रहा है. बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा दी जा रही है, लेकिन अचानक खबर मिली कि उन्हें अब ऑनलाइन क्लासेस से भी बाहर किया जा रहा है. शिक्षकों ने छात्रों से यह साफ कह दिया है कि पहले फीस जमा करें, उसके बाद ही क्लास ज्वाइन करने की अनुमति मिलेगी. अभिभावकों ने बताया कि वह ट्यूशन फीस जमा करने के लिए भी तैयार थे, लेकिन स्कूल प्रबंधन की ओर से पूरे साल की फीस मांगी गई जो सीधे-सीधे हाईकोर्ट के निर्देशों की अवहेलना है.

 

गौरतलब है कि शनिवार 13 सितंबर को रायपुर नगर निगम में महापौर एजाज ढेबर, जिला शिक्षा अधिकारी जी आर चंद्राकर और रायपुर ग्रामीण के विधायक सत्यनारायण शर्मा के बीच स्कूल फीस को लेकर बैठक भी हुई थी. इस बैठक में सहमति बनी थी कि स्कूल प्रबंधन पालकों पर फीस के लिए दबाव नहीं डाल सकता, लेकिन इसके बावजूद स्कूलों की मनमानी समझ से परे है. इससे पहले भी राजधानी स्थित हॉलीक्रॉस स्कूल से इसी प्रकार का मामला सामने आ चुका है, जिसके विरोध में छात्रों के पालक स्कूल कैंपस में ही धरने पर बैठ गए थे.

Related Articles


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories