ताज़ा ख़बर
BREAKING : प्रदेश में कोरोना के रिकवरी रेट में हो रहा तेजी से इजाफा, आज 1749 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान, देखें मेडिकल बुलेटिन3 जिलों के कलेक्टर सहित 10 IAS अफसरों का तबादला, विनीत नंदनवार को बनाया गया सुकमा कलेक्टर, आदेश जारीमिर्जापुर-2 से हटाया जाएगा सुरेंद्र मोहन पाठक की ये सीन, प्रोड्यूसर्स ने मांगी माफीBIG BREAKING : शिक्षाकर्मियों को बड़ी सौगात, 7,925 व्याख्याताओं के संविलियन आदेश जारी, CM भूपेश ने ट्वीट कर दी जानकारीधरमजीत और रमन की मुलाकात पर सियासी चर्चा, क्या JCCJ का BJP में हो जाएगा विलय? अमित जोगी के भाजपा समर्थन पर CM बघेल के बोल- वह पहले भी भाजपाई थे और अब भी भाजपाई हैंप्रोबेशनरी IAS से बोले PM मोदी, “दिमाग में कभी बाबू मत आने दीजिए, रूल और रोल का संतुलन जरूरी”Valmiki Jayanti : छत्तीसगढ़ से महर्षि वाल्मीकि का है गहरा नाता, लव-कुश का हुआ है जन्मकोरोना वैक्सीन के लिए राज्यों को निर्देश, समितियां बनाकर टीके के प्राथमिक लोगों की करें पहचानBREAKING : सुकमा में जवान ने खुद को मारी गोली, प्रेम-प्रसंग के चलते की खुदकुशी!इंदिरा पुण्यतिथि विशेष : देश की सबसे ताकतवर और पक्के इरादों वाली नेत्री, 2 हफ्ते में पाकिस्तान के किए 2 टुकड़े

VIDEO : राजधानी में पहली बार विराजे ‘रंगोली’ के गणेश, घरों में रौनक

Ankit bisenAugust 23, 20201min
Ankit bisenAugust 23, 20201min

VIDEO : राजधानी में पहली बार विराजे ‘रंगोली’ के गणेश, घरों में रौनक

 

रायपुर।  कोरोना वायरस के चलते इस बार गणपति भी प्रभावित हुए। सड़क और गली-मोहल्लों के मुकाबले इस बार घरों में ज्यादा मूर्तियां विराजी हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि कोरोनाकाल में लोग भीड़ से बचना चाहते हैं। ऐसे में घर-घर इस कामना के साथ बप्पा की मूर्ति स्थापित की गई है। वहीं राजधानी रायपुर में भक्तों ने अपने घरों में गणेश की मूर्ति रंगोली से बनाकर पूजा-अर्चना कर रहे हैं। ऐसा पहली बार हो रहा है कि राजधानी में रंगोली से गणपति की मूर्ति बनाकर स्थापित की गई हो। पहले लोग घरों के सामने रंगोली बनाते थे, लेकिन इस बार कोरोना वायरस के कारण लोग घरों में रंगोली से गणेश की मूर्ति बनाकर पूजा-पाठ कर रहे हैं।

बता दें कि राजधानी रायपुर में पहले जगह-जगह गणेश की प्रतिमा स्थापित करते थे। इस बार राज्य सरकार के गाइडलाइन के अनुसार लोग घरों में मूर्ति स्थापित कर घरों में रहकर गणेश उत्सव मना रहे हैं। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भक्त घरों में रहकर पूजा पाठ कर रहे हैं। बताते चले कि पंडालों में सार्वजनिक गणेश स्थापित नहीं होने से 11 दिन तक राजधानी में पूर्व की भांति भक्तिपूर्ण गीत भी नहीं गूंजेंगे।

कोरोना के चलते लोग इस बार घरों में ही गणेश स्थापित कर पूजा-पाठ कर रहे हैं। अन्य वर्ष की तरह इस वर्ष शहर में गणेश प्रतिम नहीं बैठाए गए हैं। इस वर्ष मूर्तिकार को नुकसान उठाना पड़ा। केवल छोटी मूर्तियां ही स्थापित की गई।

Related Articles


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories