ताज़ा ख़बर
बजट सत्र : विपक्षी पार्टियां करेगी राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार, जानिए क्या है वजह…BREAKING: कांग्रेस नेता ने जहर खाकर किया आत्महत्या का प्रयास, गंभीर हालत में आईसीयू में भर्तीबड़ी खबर : बीजेपी सांसद का विवादित बयान आया सामने, इस एक्ट्रेस को बताया सेक्स वर्करBREAKING : पूर्व सीएम अजीत जोगी की पत्नी रेणु जोगी का दायां हाथ फ्रैक्चर, अमित जोगी ने सोशल मीडिया पर दी जानकारीBREAKING : नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, सुरक्षाबलों ने डिफ्यूज किया 10 किलो शक्तिशाली बमBREAKING : छत्तीसगढ़ी गाना “दबा बल्लू” पर अश्लीलता के आरोप, गाने और बजाने वालेें पर पांच हजार से अधिक जुर्मानासीएम भूपेश की अध्यक्षता में आज सर्किट हाउस में यूनिफाइड कमांड की बैठक, गृहमंत्री समेत DGP, CRPF डीजी होंगे शामिलकेंद्र सरकार ने जारी की कोरोना की नई गाइडलाइन, सिनेमाघरों में 50% से ज्यादा दर्शकों को मिली अनुमति, सबके लिए खुलेंगे स्विमिंग पूलCM भूपेश की पहल: अब बिलासपुर में लैंड कर सकेंगे 72 सीटर विमान, सिविल एविएशन विभाग ने जारी किया 3 सी लायसेंसBIG BREAKING : सरकारी सेवा में आये इन कर्मचारियों को नहीं मिलेगा पेंशन का लाभ, राज्य सरकार ने पेंशन स्कीम को किया बंद

बीजापुर: मजदूरों के स्थान पर पोकलैंड व जेसीबी से कार्य करवाना बड़ी विडंबना : महेश गागड़ा

Tcp24 newsJune 21, 20203min

बीजापुर, ईश्वर सोनी। भाजपा नेता और पूर्व वनमंत्री महेश गागड़ा ने भाजपा कार्यालय में प्रेस वार्ता की और कहा कि वर्तमान विधायक विक्रम शाह मंडावी के सहयोग से जिले में भ्रष्टाचार का खेल अपनी चरम सीमा पर है।


जनपद पंचायत भोपालपटनम के ग्राम पंचायत कोत्तापल्ली में एक ही समय में एक केनाल निर्माण और दो नवीन तालाब का निर्माण किया गया। लेकिन गांव के लोगों ये मालूम नहीं हमारे ग्राम पंचायत में ये कार्य किया जा रहा है। जिसमें दो नवीन तालाब और एक नाली कार्य जो कि को मनरेगा के तहत कार्य करवाया जाना था, लेकिन मजदूरों के स्थान पर पोकलैंड जेसीबी वाहनों से कार्य करवाना बड़ी विडम्बना है।


प्रधानमंत्री राहत कोष के जरिये पूरे देश में देश वासियों को नरेन्द्र मोदी सरकार मदद कर रही है, लेकिन आज तक भूपेश सरकार ने मुख्यमंत्री राहत कोष के जरिये छत्तीसगढ़ वासियों को किसी भी तरह का मदद नहीं किया है।


भाजपा ने लॉक डाउन में ग्रामीण इलाकों में पहुंच कर सघन दौरा किया। स्थानीय श्रमिकों प्रवासी मजदूरों और गरीब ग्रामीणों मुआवजा देकर श्रमिकों का हालचाल की मदद की। शानिवार को भाजपा कार्यालय परिसर में पूर्व वनमंत्री महेश गागडा ने प्रेसवार्ता कर कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुऐ आगे कहा है कि स्थानीय विधायक विक्रम शाह मंडावी के संरक्षण में जिले भर भ्रष्टाचार फलफूल रहा है। गागड़ा ने पत्रकारों को जानकारी देते बताया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के छ: साल के जनसंपर्क अभियान के तहत गांव गांव का जाकर भाजपा कार्यकाल के विकास कार्यों का प्रचार प्रसार कर रहे है।

लेकिन भूपेश सरकार कंगाली के दौर पर खड़ी है। प्रदेश के मुख्यमंत्री को श्वेत पत्र जारी कर राज्य की सरकार को बताना चाहिए कि हम कंगाली के स्तर पर है। गागड़ा ने आगे कहा की जिले के चारो ब्लॉक में मजदूरों से होने वाले काम को कांग्रेस की सरकार और अधिकरियों ने बड़ी ही चालाकी से मशीनों से करवा दिया जिससे कि मजदूरों का हक छीन गया।


आज कांग्रेस की सरकार और स्थानीय विधायक के संरक्षण में पीएमजीएसवाई, वनविभाग में भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा पर है। पूरे जिले में भ्रष्टाचार को लेकर नए खुलासे हो रहे है लेकिन कोई भी कार्यवाही नहीं हो रही। इससे यह सिद्ध होता है कि जनता ने जिस विधायक और पार्टी को चुना था जिले के विकास के लिए वो विकास के कार्य न होकर सिर्फ और सिर्फ भ्रष्टाचार फल फूल रहा है।


पीएमजीएसवाई में विधायक विक्रम मंडावी की शह पर केंद्र की राशि का गबन कर रहे अधिकारी


पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा ने प्रेस वार्ता में कहा कि बीजापुर जिले में हुए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण में नेताओं और अधिकारियों पर मिलीभगत कर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि विधायक और विभागीय मंत्री के संलिप्तता की बात अधिकारियों ने स्वीकारा है। जिससे यह स्पष्ठ है कि सरकार के बदलने के बाद प्रदेश सहित जिले में भ्रष्टाचार चरम पर है। 300 करोड़ से ज्यादा के निर्माण कार्यो में करोड़ों रुपए गबन किए गए है।


प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में विभाग के ईई, एसडीओ और इंजीनियर एडजस्टमेंट का खेल खेल रहे हैं। विभाग के ईई साहू स्वयं ठेकेदारी कर रहे हैं, ताकि बीलिंग और फर्जी भुगतान को आसानी से अंजाम दिया जा सके। उन्होंने कहा कि कम दूरी के सड़क निर्माण में अधिक भुगतान हुआ है। जिसमें करोड़ों का वारा-न्यारा विभाग के अधिकारियों ने किया है।


पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने इन तीन सड़कों का जिक्र किया है। नैमेड से कोमला तक 10 किमी सड़क निर्माण स्वीकृति थी। 10 किमी सड़क न बनाकर राशि का गबन किया गया है। कांदुलनार से रालापाल तक पाँच किमी बनना था, जिसने 1.6 किमी बनाकर पचास लाख से ज्यादा का आहरण किया गया। बीजापुर से संतोषपुर तक 7 किमी सड़क बनना था. इसे भी 4.5 किमी से भी कम बनाया गया है। इन तीनों सड़क निर्माण को अधूरे में छोड़कर ही पूरी राशि निकाल ली गई। इस तरह नेताओं और अधिकारियों पर मिलीभगत कर करोड़ों रूपए घोटाला करने का आरोप गागड़ा ने लगाया है।


किसानों का पूरा धान खरीदने में भी विफल रही सरकार


गागड़ा ने प्रेस वार्ता में कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार अपने गलत नीति के चलते कंगाली के दौर से गुजर रही है और इसी के चलते किसानों को टोकन देने के बाद भी पूरा धान नही खरीद पाई जिसके चलते किसान परेशान रहे और उनका धान खराब हुआ और कई किसान कर्ज में डूब गए।


पंचायतों के 14वें वित्त के पेसों का भी दुरुपयोग करने का आरोप


भाजपा नेता महेश गागड़ा ने अपनी प्रेस वार्ता में कहा कि विधायक विक्रम मंडावी के इशारे पर ग्राम पंचायतो के लिए आई 14 वे वित्त की राशि का भी जबरन नियम कानून को ताक में रखकर अन्य सामग्री खरीदी में खर्च किया जा रहा है, जबकी ये पैसा ग्राम पंचायतो के जरूरी उपयोग में खर्च करने के लिए आया था।


मनरेगा में मजदूरों को नहीं मशीनों को मिला रोजगार


भाजपा नेता ने विधायक विक्रम मंडावी पर आरोप लगाते हुए कहा कि जिले में मनरेगा के कार्यो में स्थानीय ग्रामीणों को रोजगार कम मिला। वही मशीनों का ज्यादा रोजगार मिला कई ग्राम पंचायतों में तालाबो ओर डबरी का निर्माण कराया गया लेकिन स्थानीय ग्रामीण ताकते रह गए और विधायक के इशारों पर जेसीबी , ट्रैक्टरों से तालाबो के निर्माण हो गया जिसके चलते कई ग्रामीण कोरोना संक्रमण के बीच बेरोजगार रहे गए और उनको स्थानीय व्यापारियों – होटलों में जाकर कम रोजी में मजदूरी करनी पड़ी। इस प्रेसवार्ता में भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार, गोपाल सिंह पवार मौजूद रहे।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories